• Aajtak | 08-Sep-2021 21:00

    तालिबान राज कायम होने के बाद अशरफ गनी ने देश से मांगी माफी

    बुधवार को बयान जारी करके अशरफ गनी ने कहा गया, "काबुल छोड़ना मेरे जीवन का सबसे कठिन फैसला था, लेकिन मेरा मानना ​​था कि कत्लेआम रोकने और 60 लाख नागरिकों को बचाने का यही एकमात्र रास्ता है."

Redirecting to the full story in:

00:10 seconds